कुमाऊं…रंगदारी मांगने में 2 पत्रकार गिरफ्तार, एक महिला पत्रकार फरार, विजिलेंस टीम बताकर मांगी 1 लाख की रंगदारी, ये है पूरा मामला

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। खबर कुमाऊं मंडल के हल्द्वानी से जुड़ी है। यहां पर पत्रकारों को सिचांई विभाग के कर्मी को विजिलेन्स टीम बताकर 1 लाख की रंगदारी मांगनी भारी पड़ गई।कोतवाली हल्द्वानी पुलिस टीम ने 2 पत्रकार एक चालक को रंगदारी मांगने के मामले में गिरफ्तार किया है। एक महिला पत्रकार फरार बताई जा रही है।

पुलिस के अनुसार बीते 19 मई को
सिचांई विभाग में क्लर्क उमेश चन्द्र कोठारी पुत्र षष्टी बल्लभ कोठारी निवासी 111/1कैनाल कालोनी कालाढूंगी रोड़ कोतवाली पुलिस को बताया कि 3 पुरूष व 1 महिला अज्ञात द्वारा 18 मई को सिंचाई विभाग के कार्यालय कालाढूंगी रोड हल्द्वानी में आकर स्वयं को विजिलेंस टीम बताकर आधी अधूरी वीडियो दिखाकर वायरल करने और जान से मारने की धमकी देकर एक लाख रुपये मांगे। इसके बाद पुलिस ने मामले में रिपोर्ट दर्ज की। मामले की पड़ताल शुरू की। एसएसपी के निर्देश के बाद पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की जांच की।

पुलिस ने बताया बीते 18 मई को सिंचाई विभाग के मुख्य अभियन्ता कार्यालय कालाढुँगी रोड में तीन पुरुष, एक महिला विजिलेन्स अधिकारी बनकर पहुँचे। जहा पर उन्होंने स्वयं को पुलिस की विजिलेंस शाखा का अधिकारी बताया। कुछ आधी अधूरी विडियो दिखाकर उमेश चन्द्र कोठारी क्लर्क सिचांई विभाग को डरा धमकाकर अपने झांसे में ले लिया। उस पर दबाव बनाते हुए एक लाख रुपये की रंगदारी वसूल कर ली। जांच में पुलिस को घटना में प्रयुक्त वाहन संख्या यूके6 बीए 4534 रंग सफेद बैगनार प्रकाश में आई। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे संदिग्धो में से एक संदिग्ध की शिनाख्त भूपेन्द्र सिहं पन्नू जो ऊधमसिंहनगर में पत्रकारिता करता है। के रूप में की गयी इसके बाद पुलिस द्वारा कड़ी-कडी से जोड़ते हुए अभियुक्त भूपेन्द्र सिहं पन्नू के सम्भावित ठिकानो में दबिश दी गई। भूपेन्द्र सिंह के ससूराल मनीहार गोठ चम्पावत से तीनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। पड़ताल में सामने आया कि गिरफ्तार अभियुक्त भूपेन्द्र सिह पन्नू समाचार नेशन में उत्तराखण्ड (स्टेट) ब्यूरो पद पर नियुक्त है।ऊधमसिह नगर व देहरादून में सूचना विभाग में पंजीकृत पत्रकार है। अभियुक्त सौरभ गाबा समाचार नेशन में एसआईटी हेड पद पर नियुक्त है। ऊधमसिंह नगर से सूचना विभाग में पंजीकृत पत्रकार है। अभियुक्त सुन्दर दोनों पत्रकारों का घनिष्ठ मित्र है। गूलरभोज में खेती बाड़ी का काम करता है। इनके साथ वाहन चालक बनकर आया था ।

यह भी पढ़ें 👉  एमबीपीजी और महिला कॉलेज के छात्रों के लिए बड़ी खबर

पुलिस ने बताया की अभियुक्त भूपेन्द्र व सौरभ गाबा पत्रकार होने के कारण विभागो का कार्यप्रणाली से परिचित होते है। इस कारण इनके द्वारा अपने एक महिला मित्र साक्षी सक्सेना निवासी नोएडा व सुन्दर के साथ मिलकर योजना बनाई। योजना के तहत 18 मई को सिचाई विभाग के बाबू उमेश चन्द्र कोठारी को योजना बद्ध तरीके से पैसो का लालच देते हुए पैसो की माँग करने वाली आधी अधूरी विडियो तैयार की गयी इसके बाद साक्षी व सुन्दर विजिलेन्स अधिकारी बनकर कार्यालय में आये। भूपेन्द्र व सौरभ गाबा द्वारा खुद को पत्रकार बताया गया। विडियो दिखाकर उससे से रंगदारी की माँग की गई। को डरा धमकाकर उससे एक लाख रुपये की रंगदारी वसूल की गई। घटना में शामिल साक्षी सक्सेना फरार चल रही है। पकड़े गए आरोपी भूपेन्द्र सिहं(37) पुत्र रणधीर सिंह निवासी निकट विद्या मन्दिर इण्टर कॉलेज बाजपुर
सुन्दर सिंह(35) पुत्र हयात सिंह निवासी कॉलोनी नंबर 2 गूलरभोज ,सौरभ गावा(21) पुत्र किशन लाल गांवा निवासी गली नंबर 3 शान्ति बिहार रूद्रपुर, फरार अभियुक्त – साक्षी सक्सेना निवासी नोएडा की रहने वाली है।

यह भी पढ़ें 👉  दर्दनाक हादसा- कंचनजंगा एक्सप्रेस हादसे में 5 की मौत, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव रवाना

ये बरामद किया
अभियुक्त भूपेन्द्र सिंह के कब्जे से उसके साक्षी सक्सेना के हिस्से में आये 50,000/ रुपये में से 45000/- रू०, भूपेन्द्र सिह का सामाचर नेशन इलैक्ट्रानिक मिडिया का आई कार्ड,
अभियुक्त सौरभ गावा से उसके हिस्से में आये 25,000/ रुपये में से 23000/- व सौरभ गाबा का सामाचर नेशन इलैक्ट्रानिक मिडिया का आई कार्ड,अभियुक्त सुन्दर सिंह से उसके हिस्से में आये 25,000/ रुपये में से 22000/- रू० व घटना में प्रयुक्त कार यूके06 बीए 4534 रंग सफेद बैगेनार बरामद की गई। पुलिस टीम को डॉ. नीलेश आनन्द भरणे पुलिस महानिरीक्षक कुमाऊँ परिक्षेत्र नैनीताल ने 10,000 और एसएसपी पंकज भट्ट ने 5000 का नगद पुरस्कार देने की घोषणा की है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद