पीपीपी मोड में संचालित राजकीय अस्पताल के स्टाफ पर लगे अभद्रता के आरोप, हुई यह कार्रवाई

Sajag Pahad (सजग पहाड़)
खबर शेयर करें

रामनगर। यहां पीपीपी मोड में संचालित राजकीय अस्पताल में तैनात चार चिकित्सकों और पांच नर्सों को मरीजों और तीमारदारों से अभद्रता भारी पड़ गई। इन सभी को जांच के उपरांत बर्खास्त कर दिया गया है। हालांकि यह कार्रवाई अभी मौखिक तौर पर हुई है। इसके लि‌खित आदेश जारी नहीं ‌हुए हैं। लिहाजा स्टाफ को भी नोटिस जारी हुए हैं।

रामनगर में राजकीय अस्पताल पीपीपी मोड पर संचालित है। जिसमें आउट सोर्सिंग के आधार पर चिकित्सकों और नर्सों की तैनाती की गई है। अस्पताल प्रभारी डॉ प्रतीक सिंह के अनुसार अस्पताल के कई चिकित्सकों और नर्सों का मरीजों और तीमारदारों के प्रति व्यवहार ठीक नहीं था। इन पर लगातार अभद्रता के आरोप लगते आ रहे हैं। बीते दिनों अस्पताल के डॉक्टरों के मरीज से अभद्रता करने का वीडियो सामने आया था। जांच में आरोप सही पाए गए। इस पर चार चिकित्सकों और पांच नर्सों को बर्खास्त किया गया है।

यह भी पढ़ें 👉  निकाय चुनाव- बढ़ सकता है प्रशासकों का कार्यकाल, हो रहा ये काम

उनका यह भी कहना है कि हालांकि यह कार्रवाई मौखिक रूप से क‌ी गई है। इसके कोई लिखित आदेश नहीं हैं। बशर्ते अस्पताल के सभी चिकित्सकों, नर्सों व अन्य स्टाफ को व्यवहार में सुधार के नोटिस जारी किए गए हैं। साथ ही अन्य स्टाफ पर लगे आरोपों की भी जांच की जा रही है। 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद