अल्मोड़ा……….पुण्यतिथि पर डॉ बिष्ट के संघर्ष को किया याद

खबर शेयर करें

अल्मोड़ा। डा. शमशेर सिंह बिष्ट की पांचवीं पुण्यतिथि पर उनके संघर्ष को याद करते हुवे  श्रद्धांजलि दी गई । इस सभा में बतौर मुख्य अतिथि   हिमांचल की मासी पाशर ने कहा कि हिमाचल मे उत्तराखण्ड की तरह पलायन नहीं है, क्योकि हिमाचल प्रदेश ने अपनी जनता को भूमि सुधारों के माध्यम से कृषि बागवानी  के माध्यम  समृद्धि पाई।

 उन्होंने कहा कि विकास और आपदाओं में से हम सबको एक चुनना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में सब के बागानों तक सड़कों के विस्तार के लिए जो सड़के खोली गई, उसके फल स्वरुप वहां बड़े आपदाएं हैं। उन्होंने कहा कि हिमाचल में  बांध  के बनने के बाद रोखड़ में तब्दील हो गई  नदियों पर बड़े-बड़े होटल व रिसोर्ट में बनाए गए, किंतु जब हिमांचल में अत्यधिक वर्षा के कारण नदी  अपने स्वाभाविक प्रवाह की तरफ बहने लगी  जिसके परिणाम स्वरूप हिमाचल में जल प्रलय.आ गया।   उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में जो सड़कों का विस्तार हो रहा है सड़कों के चौड़ाई बढ़ रही है उसे हमें यह समझ लेना चाहिए कि भविष्य में प्राकृतिक आपदायें स्वाभाविक है। 

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं: सड़क हादसे में बीजेपी नेता की मौत, अल्मोड़ा के रहने वाले थे सचिन, जीआईसी में

इस अवसर पर वन कानूनों  पर प्रकाश डालते हुवे विनोद पाण्ड़े ने कहा कि नये बन कानूनों के तहत केन्द्र सरकार  ने बनों पर अनियन्त्रित मानवीय गतिविधियों की छूट देने का कानून पास कर दिया है। सीमान्त प्रदेशों में सौ किलोमीटर हवाई पैन्ज में अब सरकार विकास की छूट देने जा रही है। उन्होंने कटाक्ष करते हुए कहा  कि आपदा प्रभावितों के लिये सरकार के पास जमीनें नहीं हैं, पर पर्यटन व अन्य गतिविधियों के लिये अनियन्त्रत वन भूमि देने की बात हो रही है। कार्यक्रम की अध्यक्षता उत्तराखंड  लोक वाहिनी के अध्यक्ष  राजीव लोचन साह ने वाहनी के जनसंघर्षों पर प्रकाश डाला।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं: सड़क हादसे में बीजेपी नेता की मौत, अल्मोड़ा के रहने वाले थे सचिन, जीआईसी में

उन्होंने कहा  कि 1972से विभिन्न आयामों से आगे बढते  हुवे  उत्तराखण्ड़ राज्य  व बड़े बांधों के दुष्प्रभावो पर संघर्ष व जागरण करती रही।  इस अवसर पर विनोद पाण्ड़े ने बन कानूनों पर अपनी बात रखते हुवे कहा कि , नये वन कानूनो में अब सरकार को अनियमित छूटे  मिल  गई  है। कार्यक्रम को उ.लो.वा. के महासचिव पूरन चन्द्र तिवारी  एडवोकेट जगत रौतेला, अजय मित्र बिष्ट,  अजय मेहता, जंगबहादुर थापा,  मोहन सिह , शिवदत्त पाण्डे,  पहरू के हयात रावत, बार एसोसियेशन के अध्यक्ष महेश परिहार, उपपा के अध्यक्ष पी सी  तिवारी, रंगकर्मी भाष्कर भौर्याल, डॉ दे.सी. दुर्गापाल, आनन्द सिंह बगड्वाल, मोहन काण्डपाल ने संबोधित किया।  संचालन दयाकृष्ण काण्डपाल ने किया।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद