भंडाफोड़……स्पा सेंटर की आड़ में चल रहा था अनैतिक देह व्यापार, दो गिरफ्तार

खबर शेयर करें

देहरादून। स्पा सेंटर की आड़ में अनैतिक देह व्यापार के धंधे का दून पुलिस ने पर्दाफाश करते हुये स्पा सेंटर की महिला मैनेजर तथा एक पुरुष को गिरफ्तार कर लिया हैं जबकि स्पा सेंटर का मालिक फरार हो गया। पुलिस उसकी तलाश कर रहीं हैं। पुलिस ने कार्यवाही के दौरान तीन पीड़िताओं को रेस्क्यू किया है। पुलिस का कहना है पैसों का लालच देकर महिलाओं को देह व्यापार में धकेला जा रहा था।

प्राप्त जानकारी के अनुसार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून अजय सिंह को नगर क्षेत्रान्तर्गत कुछ स्पा सेंटरों में अनैतिक कार्य किये जाने की गोपनीय सूचना प्राप्त हुई थी। जिस पर उनके द्वारा तत्काल एंटी हयूमन ट्रेफिकिग यूनिट (एएचटीयू) टीम को उक्त स्थानों की आकस्मिक चेकिंग कर आवश्यक वैधानिक कार्रवाई करने निर्देश दिए गए। उक्त आदेशों के क्रम में एंटी हयूमन ट्रेफिकिग यूनिट देहरादून की टीम द्वारा चकराता रोड़ स्थित स्पा सेंटरो की आकास्मिक चेकिंग की गई। चेकिंग के दौरान एंटी हयूमन ट्रेफिकिग यूनिट देहरादून की टीम को बिंदाल क्षेत्र स्थित क्राउन टावर में डिलाइट स्पा सेंटर पर मसाज की आड़ में एक कमरे में एक महिला व एक पुरूष अनैतिक देह व्यापार में संलिप्त मिले।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं- पुलिस की तत्परता के चलते रूकी नाबालिग लड़की की शादी

साथ ही तीन अन्य महिलाये भी उक्त स्पा सेंटर में मौजूद मिली। स्पा सेंटर की तलाशी में वहां से कई आपत्तिजनक चीज़े प्राप्त हुई। जिस पर पुलिस टीम द्वारा मौके से स्पा सेंटर की महिला मैनेजर तथा एक पुरुष को अनैतिक देह व्यापार अधिनियम के तहत गिरफ्तार किया तथा तीन पीड़ित महिलाओ को रेस्क्यू किया गया। पूछताछ में जानकारी प्रकाश में आई कि उक्त स्पा सेंटर का मालिक मनोज कुमार पुत्र जगमल निवासी सोरणा जिला सहारनपुर महिलाओं को रुपयों का लालच देकर अपने स्पा सेंटर की आड़ में काफी समय से अनैतिक देह व्यापार का काम करा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर… अल्मोड़ा माल रोड में जाम, लोग परेशान

इस काम के लिए उसके द्वारा एक महिला मैनेजर को रखा गया था, जो आने वाले ग्राहकों को मसाज के साथ एक्सट्रा सर्विस के बारे में भी बताती थी तथा ग्राहकों से स्पा में रूम के 800 से 1000 रुपया लेती थे, इसके बाद ग्राहक की पसंद पर लड़की को रूम पर भेजा जाता था तथा ग्राहको से एक्स्ट्रा सर्विस के एवज में 2000 से 4000 रुपये तक लिए जाते थे। उक्त सारा लेन देन का काम मैनेजर द्वारा देखा जाता था। पुलिस टीम मे मुख्य रूप से एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून के प्रभारी उप निरीक्षक मनमोहन सिंह नेगी, हेड कांस्टेबल नरेंद्र बिष्ट, हेड कांस्टेबल धर्मेंद्र, महिला कांस्टेबल रैना रावत, उप निरीक्षक शेंकी कुमार चौकी इंचार्ज बिंदाल शामिल थे ।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद