इस भूमि के दाखिल-खारिज मामले पर आयुक्त सख्त, इन अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के निर्देश

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। आयुक्त दीपक रावत की अध्यक्षता में शनिवार को कैम्प कार्यालय में जनता की समस्याएं सुनी। जिसमें विभिन्न लोगो ने पेयजल, सड़क, विद्युत, पेंशन, अतिक्रमण, के साथ ही अधिकांश शिकायतें  भूमि विवाद व मार्ग सम्बन्धित आयी। उन्होंने अधिकांश समस्याओं का मौके पर ही समाधान किया।

जनसुनवाई में आयुक्त ने आपत्ति व स्टे वाली भूमि का रजिस्टेशन के साथ ही दाखिल खारिज करने को संवदेनशीलता से लिया और तहसीलदार, लेखपाल एवं राजस्व कर निरीक्षक की बेसिक रिपोर्ट दिनांक रहित होने पर आयुक्त ने गम्भीरता से लेते हुये सम्बन्धितों के खिलाफ कठोर कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने मण्डल के सभी जिलाधिकारियों को निर्देश दिये है कि कोर्ट पत्रावलियों में जो भी रिपोर्ट आये वह दिनांक रहित ना हो उन पत्रावलियों में सम्बन्धित जो भी कर्मचारी व अधिकारी द्वारा प्रस्तुत की जाती है दिनांक होना आवश्यक है। जनसुनवाई में आयुक्त ने पाया कि तहसील स्तर पर आम जनता के द्वारा जो पत्राचार व अभिलेख प्रस्तुत कियेे जाते हैं लोगों के पत्र सम्बन्धित फाइलों में सुव्यवस्थित ढंग से नही रखे जाता हैं जो एक गम्भीर समस्या है। उन्होंने तहसीलदार सचिन कुमार को निर्देश दिये कि भविष्य में इस प्रकार की समस्या ना हो। उन्होंने कहा आमजनमानस की समस्या को संवदेनशीलता के साथ निराकरण करना प्राथमिकता में हो।  

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद: अल्मोड़ा के शिक्षक और सिदार्थ पार्लर की संचालिका के पति का निधन

जनसुनवाई में घोडानाल के निवासियों द्वारा बताया गया कि सेन्चुरी पेपर मिल के द्वारा नाले में जो गन्दा पानी छोडा जाता है स्थानीय निवासियों को पीने के पानी के साथ ही अनेक बीमारियों का खतरा बढ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि ग्राम में पेयजल की कोई व्यवस्था नही है हैडपम्पों के द्वारा ही पेयजल की पूर्ति की जाती है सेन्चुरी मिल के गन्दे नाले से हैडपम्पों में जो पानी आ रहा है वह भी गन्दा हो गया है साथ ही क्षेत्र में लोगों को टीवी,पीलिया,हैजा तथा दमा आदि बीमारियों से लोग ग्रसित हो रहे हैं। जिस पर आयुक्त ने मैनेजर सेन्चुरी पेपर मिल, जल संस्थान, प्रदूषण अधिकारी के साथ ही चिकित्साधिकारी को कार्यालय में तलब किया। उन्होने कहा सेन्चुरी मिल के गन्दे नाले के पानी की निकासी पक्के नाले के साथ ही पाईपों के द्वारा की जाए एवं चिकित्साधिकारी को सम्बन्धित क्षेत्र में भ्रमण कर कितने लोग दूषित पानी से आहत है रिपोर्ट के साथ ही अधिशासी अभियंता जलंस्थान व प्रदूषण अधिकारी को हैडपम्पों के पानी की जांच एवं गन्दे नाले के पानी की क्वालिटी चैक करने के निर्देश दिये।

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद: अल्मोड़ा के शिक्षक और सिदार्थ पार्लर की संचालिका के पति का निधन

जनसुनवाई में हल्दूपोखरा नायक हल्द्वानी कालोनी वासियों ने बताया कि उनके क्षेत्र में नलकूप का निर्माण दो वर्ष पूर्व हो चुका है लेकिन दो वर्ष व्यतीत होने के बाद भी यूपीसीएल द्वारा विद्युत संयोजन नही दिया गया है जबकि यूपीसीएल को धनराशि भी आवंटित हो चुकी है। ग्राम वासियों द्वारा बताया गया कि कुछ लोगों द्वारा अवरोध किया जा रहा है जिसके कारण कार्य प्रारम्भ नही हो पाया है जिससे क्षेत्र के लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड रहा है। आयुक्त ने दूरभाष पर चीफ अभियंता यूपीसीएल कुमाऊ एएस गर्ब्याल से दूरभाष पर वार्ता कर शीघ्र विद्युत कनेक्शन देने के निर्देश दिये। जनसुनवाई में अधिकांश समस्यायें भूमि विवाद से सम्बन्धित आई जिनका आयुक्त ने क्रेता एवं विक्रेता के साथ संवाद कर समस्याओं का समाधान किया। 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद