आतंक से निजात…….बच्ची को निवाला बनाने वाला गुलदार पिंजरे में कैद

खबर शेयर करें

रुद्रप्रयाग। लंबे समय से आतंक का पर्याय बना आदमखोर गुलदार पिंजरे में कैद हो गया है। गुलदार के आतंक के चलते ग्रामीणों का घरों से निकला दुश्वार हो गया था। बीती रात यह गुलदार पिंजरे में कैद हो गया। गुलदार को वन विभाग की टीम अपने साथ ले गई है।

बताते चलें कि रूद्रप्रयाग  जिले के अगस्त्यमुनि विकासखंड के ग्राम पंचायत गहड़ गांव में लंबेसमय से गुलदार की दहशत बनी हुई थी। इस गुलदार ने एक सप्ताह पूर्व घर के आंगनल में खेल रही दो साल की बच्ची को निवाला बना लिया था। उस समय ग्रामीण अपने खेतो में ही काम कर रहे थे और परिवार के लोंगो ने जब शोर मचाया तो गुलदार 100 मीटर की दूरी पर बच्ची को घास के नीचे छिपा कर भाग गया था और चारों ओर से शोर गुल मच गया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: यहां मिली 14 साल के मोहित की लाश

तब ग्रामीणों और वन विभाग की टीम और पुलिस विभाग द्वारा गांव में सुरक्षा की दृष्टि से वन विभाग की ओर से 15 लोगों की टीम जो गांव में गश्त लगा रही थी और एक पिजंरा लगा था, साथ ही ड्रोन की मदद से गुलदार पर नजर रखी जा रही थी। बीती देर सांय गुलदार पिंजरे में कैद हो गया। जिससे शुक्रवार सुबह ग्रामीणों के सहयोग और वन विभाग की टीम द्वारा वन विभाग जिला मुख्यालय में लाया गया है। ग्रामीणों ने राहत की सांस ली है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद