सरकारी काम दिलाने के नाम पर मुख्यमंत्री के पूर्व निजी सचिव समेत सात लोगों ने भाजपा नेताओं से की धोखाधड़ी, सीएम के आदेश पर केस

खबर शेयर करें

देहरादून। सरकारी टेंडर समेत अन्य काम दिलाने के नाम पर करोड़ों रुपये की धोखाधड़ी का मामला प्रकाश में आया है। इस मामले में मुख्यमंत्री के पूर्व पीएस समेत सात लोगों के खिलाफ शहर कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोप है कि उक्त लोगों ने पटियाला निवासी भाजपा के सात नेता और कार्यकर्ताओं को ठगा। सीएम के निर्देश पर पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।

शहर कोतवाल राकेश गुसाईं के अनुसार, मामले में पटियाला में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष संजीव कुमार ने तहरीर दी। इस आधार पर पूर्व पीएस प्रकाश चंद्र उपाध्याय निवासी कलिंगा विहार, माजरी माफी, सौरव शर्मा उर्फ सौरभ वत्स निवासी पाम सिटी व उसकी पत्नी नंदिनी, महेश माहरिया, रौनक माहरिया, अमित लांबा और शाहरुख खान निवासी अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई। शिकायतकर्ता के अनुसार, सौरभ शर्मा ने खुद को सीएम दफ्तर में सहायक निजी सचिव बताया था। पुलिस के अनुसार, शिकायतकर्ता संजीव ने तहरीर में बताया कि वे गतवर्ष मुख्यमंत्री कार्यालय में प्रकाश चंद्र उपाध्याय के संपर्क में आए थे। आरोपी उपाध्याय ने उत्तराखंड में सरकारी टेंडर व दवा सप्लाई समेत अन्य व्यापार की डील ऑफर की थी।

यह भी पढ़ें 👉  तहसील के खाते से उड़ाई हजारों की रकम, ईनामी कुख्यात गिरफ्तार 

आरोपी ने उन्हें झांसा दिया कि वे यहां काम दिलवाएंगे। इसके एवज में शिकायतकर्ता और उनके अन्य सहयोगियों से तीन करोड़ 42 लाख 59 हजार रुपये ले लिए गए। संजीव कुमार ने बताया कि आरोपी कभी सचिवालय तो कभी विधानसभा में मिले। इस दौरान वह अपने साथ, उनके कामों की फाइलें लेकर घूमते थे और प्रगति रिपोर्ट दिखाकर रकम लेते रहते थे। इसके बाद लगातार चक्कर कटवाए गए। तहरीर के अनुसार, इस साल के शुरू में शिकायतकर्ता पक्ष ने दबाव बनाया तो आरोपियों ने मार्च तक रकम वापस लौटाने का वादा किया, पर ऐसा किया नहीं। एक दिन मुख्य आरोपी उपाध्याय ने पीड़ित को अपने घर बुलाया। वहां नौकर शाहरुख खान के नाम का 30 लाख रुपये का चेक दिया, जो कैश नहीं हुआ। इसके बाद अगले दिन शिकायतकर्ता पक्ष के खिलाफ ही घर में घुसकर मारपीट का मुकदमा दर्ज करा दिया। इसके बाद पीड़ितों ने देहरादून में कार्रवाई के लिए संपर्क किया। उन्होंने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पूरा प्रकरण बताया। इस पर मुख्यमंत्री ने पुलिस को कार्रवाई के निर्देश दिए। शिकायतकर्ता पक्ष, डीआईजी दलीप सिंह कुंवर से भी मिला, जिनके आदेश पर शहर कोतवाली पुलिस ने सातों आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज करते हुए जांच शुरू कर दी है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद