पत्रकार जेडे हत्याकांडः उम्र कैद की हुई थी सजा, पैरोल से फरार हो गया था अभियुक्त दीपक सिसौदिया, अब गिरफ्तार

खबर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखंड एसटीएफ ने अंडरवर्ड डॉन छोटा राजन के करीबी दीपक सिसोदिया को भारत–नेपाल बॉर्डर से गिरफ्तार कर लिया है। मुंबई के मशहूर खोजी पत्रकार जे.डे की हत्या में हुई उम्रकैद का सजायाफ्ता शातिर यह इनामी अपराधी अपनी पैरोल से फरार हुआ था। काफी समय से कई एजेंसियों को तलाश थी।

उत्तराखण्ड एसटीएफ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आयुष अग्रवाल की रणनीति से अब एसटीएफ का 47वां शिकार है। उत्तराखंड राज्य के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार द्वारा राज्य के इनामी अपराधियों के विरुद्ध चलाए जा रहे “ऑपरेशन प्रहार” के तहत वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल द्वारा उत्तराखंड में गैंगस्टर एवं इनामी अपराधियों के विरुद्ध ठोस रणनीती बनाकर लगातार कार्यवाही अपनी टीमों के द्वारा कराई जा रही है, इसी क्रम में आज* प्रातः सीओ एसटीएफ सुमित पांडे द्वारा गठित एसटीएफ टीम के द्वारा हल्द्वानी थाने के 25000 रु.के ईनामी गैंगस्टर दीपक सिसौदिया को भारत-नेपाल बॉर्डर में बनबसा से गिरफ्तार किया गया।

यह भी पढ़ें 👉  बड़ी खबर… अल्मोड़ा माल रोड में जाम, लोग परेशान

गिरफ्तार अपराधी वर्ष 2011 में मुंबई में हुए पत्रकार जे.डे की हत्या के आरोप में उम्रकैद की सजा काट रहा था और पिछले वर्ष जनवरी माह में मुंबई की अमरावती सेन्ट्रल जेल से पैरोल पर छूटकर हल्द्वानी आया था जिसे मार्च में वापस जेल में जाना था लेकिन अपराधी दीपक सिसौदिया पैरोल से फरार हो गया जिस पर मुंबई पुलिस द्वारा उसके विरुद्ध थाना हल्द्वानी में एक मुकदमा एफआईआर संख्या 327/22 धारा 224 आईपीसी में पंजीकृत करवाया था, तथा एसएसपी नैनीताल द्वारा उसपर 25000 रु. का ईनाम घोषित किया था।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद