पुलिस की त्वरित कार्रवाई…… अपहृत बालक बरामद, तीन आरोपी गिरफ्तार

खबर शेयर करें

हरिद्वार। बच्चे के अपहरण मामले में पुलिस ने त्वरित कार्रवाई की है। पुलिस ने 72 घंटे के भीतर बच्चे को सकुशल बरामद कर लिया है। इस मामले में महिला सहित तीन अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। अभियुक्तों में से दो सिडकुल फैक्ट्री में काम करते हैं। महिला पतंजली में नौकरी कर रही थी। अपहरणकर्ता ने महिला से एक लाख रुपए में सौदा तय था। तीस हजार रुपए की धनराशि एडवांस ली थी। बाकी काम होने के बाद देने का वादा किया गया था।

 पुलिस के मुताबिक 09 सितंबर की शाम शिवम बिहार कालोनी रोशनाबाद सिडकुल से गायब हुए 06 वर्षीय बच्चे के अपहरण में शामिल हर किरदार को जनता के सामने और कानून के दायरे में लाकर हरिद्वार पुलिस ने अपहृत बच्चे को सकुशल बरामद करने में कामयाबी हासिल की। बच्चे के गायब होने पर बच्चे के पिता सुभाष प्रजापति द्वारा 10 सितंबर 2023 को थाना सिडकुल पर दी गई शिकायत पर नाबालिक के अपहरण के सम्बन्ध में धारा -363 भादवि बनाम अज्ञात पंजीकृत किया गया। एसएसपी हरिद्वार अजय सिंह द्वारा प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए प्राथमिकता के आधार पर बच्चे को सुरक्षित बरामद करने के लिए अलग-अलग पुलिस टीमें गठित की गई थी।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेक फेल होने से क्रेन खाई में गिरी, पहाड़ी पर अटकी कार, इस तरह बची जिंदगियां

गठित की गई अलग अलग टीमों द्वारा परिजनों से गुमशुदा बच्चे के हुलिये की जानकारी लेकर घटना स्थल के आस पास लगे सीसीटीवी कैमरो का अवलोकन किया तथा संदिग्धों से पूछताछ की गई तो अपहृता बच्चा एक संदिग्ध आदमी के पीछे-पीछे पैदल पैदल टैम्पो स्टैण्ड की ओर जाते हुये दिखाई दिया था। क्षेत्र में कई लोगों से पूछताछ करने पर संदिग्ध की पहचान शिवमविहार कालोनी रोशनाबाद निवासी रविन्द्र के रूप मे हुई। तलाश करने पर रविन्द्र के साथ एक व्यक्ति जनक के मौजूद मिलने पर पुलिस टीम ने दोनो से सख्ती से पूछताछ की तो अपहरण के सारे राज खुल गए। पुरानी मकान मालकिन ने अभियुक्त रविन्द्र को एक लाख रुपए का ऑफर देते हुए छोटे बच्चे की मांग की थी। प्रस्ताव सुन लालच में आकर रविन्द्र ने वर्तमान निवास की बिल्डिंग में रह रहे परिवार जिनके 04 लडके थे में से 01 बच्चे का अपहरण करने का प्लॉन में अपने साथी अभियुक्त जनक को भी शामिल कर लिया।

यह भी पढ़ें 👉  पोखरी डिग्री कॉलेज में योग दिवस मनाया

पहले से तैयार प्लान के मुताबिक जनक सिह ने बच्चे को चाकलेट, बिस्किट खिलाकर अपने भरोसे में ले लिया। नौ सितंबर को अभियुक्त जनक ने बच्चे को चाउमीन खिलाने का लालच देकर अपने पीछे आने को कहा और मौका मिलते ही रविन्द्र के हवाले कर दिया जहां से रविन्द्र बच्चे को ई-रिक्शा में बिठाकर अभियुक्ता शगुन को बेच दिया और 30 हजार की धनराशी प्राप्त की और शेष धनराशी 4-5 दिन बाद देना बताया था। पुलिस टीम ने अभियुक्तों के कब्जे से 20 हजार की धनराशी भी बरामद करते हुए आवश्यक वैधानिक कार्रवाई की गई। अपहृत बच्चे के परिजनों एवं क्षेत्रवासियों द्वारा हरिद्वार पुलिस की त्वरित कार्यवाही कर बच्चे को सकुशल बरामद करने की प्रशंसा कर पुलिस टीम का आभार प्रकट किया गया। पुलिस ने अभियुक्त रविन्द्र पुत्र ब्रहम सिह निवासी ग्राम बामनौली थाना दोघाट जनपद बागपत हाल निवासी शिवम विहार कालोनी रोशनाबाद हरिद्वार,जनक सिह पुत्र राजबीर सिह निवासी ग्राम नगवा थाना बुडाना जनपद मु0नगर हाल निवासी शिवम बिहार कालोनी रोशनाबाद थाना सिडकुल हरिद्वार व शगुन पत्नी संजोव निवासी मेरठ उत्तर प्रदेश हाल वोल ग्रीन सीटी निकट अशोक वाटिका थाना सिडकुल हरिद्वार को गिरफ्तार किया।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद