दिल्ली पुलिस के फर्जी अफसरों के चंगुल में फंसे इसरो के रिटायर्ड अधिकारी, इस तरह गंवा बैठे चार लाख

खबर शेयर करें

देहरादून। लोगों को अपना शिकार बनाने के लिए ठग नए नए हथकंडे अपना रहे हैं। इस बार दिल्ली पुलिस के फर्जी अफसर बने ठगों ने इसरो के पूर्व अधिकारी को अपने जाल में फंसा दिया। मुकदमे में फंसाने का भय दिखाकर उनसे लाखों की ठगी कर ली गई।

जानकारी के अनुसार साइबर ठगों ने बुजुर्ग को दिल्ली और जयपुर पुलिस का अधिकारी बनकर फोन किया था। कैंट थाने में केस दर्ज कर लिया है। इंस्पेक्टर कैंट सम्पूर्णानंद गैरोला ने बताया कि ठगी सौरी सेन गुप्ता निवासी पंडितवाड़ी के साथ हुई है। वह देश के विभिन्न सरकारी और प्राइवेट विश्वविद्यालयों के रजिस्ट्रार रह चुके हैं। वह इसरो में भी काम कर चुके हैं। उन्होंने दिल्ली पुलिस कमिश्नर को शिकायत की थी। बताया था कि वह गत मार्च में कोलकाता काली मंदिर में पूजा के लिए गए थे। जैसे ही वह पूजा कर मंदिर से निकले तो उन्हें एक कॉल आई।

यह भी पढ़ें 👉  नशे पर वार......एसओजी और पुलिस के हाथ सफलता, दो किलो चरस के साथ एक गिरफ्तार

कॉल करने वाले ने खुद को जयपुर पुलिस का एसओ बताया। उसने कहा कि एक व्यक्ति की आत्महत्या में उनका नाम आ रहा है। यह सुनकर वह घबरा गए। इसके थोड़ी देर बाद किसी विक्रम राठौर नाम के व्यक्ति का फोन आया। इस राठौर नाम के व्यक्ति ने खुद को रोहिणी थाना दिल्ली का एसएचओ बताया। उसने भी इसी तरह की बात कही। कहा कि उन्हें 10 लाख रुपये देने होंगे तभी उनका नाम इस मुकदमे से काटा जा सकता है। सौरी सेन गुप्ता ने इसके लिए देहरादून में अपनी एफडी तोड़कर ठगों को चार लाख रुपये दे दिए।एसएचओ कैंट संपूर्णनानंद गैरोला ने बताया कि आरोपियों के खिलाफ जांच जारी है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद