सचिव मुख्यमंत्री की हिदायत, बजट खर्चने और लक्ष्यों को पूरा करने तक ही सीमित न रहें विभाग

खबर शेयर करें

अल्मोड़ा। बजट खर्च करने तथा लक्ष्यों को पूर्ण करने तक ही सीमित न रहे, अधिकारी बल्कि इससे आगे बढ़कर जनपद में रोजगार संवर्धन, उत्पादन वृद्धि तथा लोगों को योजनाओं का भरपूर लाभ दिलाना सुनिश्चित करें।  यह बात सचिव मुख्यमंत्री, आवास विभाग तथा वित्त विभाग उत्तराखंड शासन डॉ सुरेंद्र नारायण पांडे ने आज विकास भवन सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक करते हुए कही।

सचिव डॉ सुरेंद्र नारायण पांडे ने विकास भवन सभागार पहुंचकर जनपद में केंद्र सरकार, राज्य सरकार तथा बाह्य सहायतित विभिन्न योजनाओं की समीक्षा की तथा अधिकारियों को इन सभी योजनाओं का लाभ पात्र लोगों को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। इस दौरान श्री पांडे ने कहा कि अधिकारी सरकार की मंशा के अनुरूप सरलीकरण, समाधान तथा निस्तारण के तहत कार्य करें। उन्होंने बैठक में कहा कि  विभागीय अधिकारी योजनाओं के क्रियान्वयन में प्रतियोगिता की तरह कार्य करें। इस दौरान उन्होंने कहा कि केंद्र पोषित योजनाओं को शासन स्तर से समन्वय बनाते हुए गति दी जाए। उन्होंने कहा कि जनपद के अंतर्गत आजीविका के क्षेत्र में चल रही विभिन्न योजनाओं में विशेष रुचि लेकर कार्य किया जाए तथा समय समय पर यह डाटा भी तैयार किया जाए, कि कितने लोगों को रोजगार से जोड़ा गया है।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड- दो पक्षों में खूनी संघर्ष, बदमाश से कराई फायरिंग, एक की मौत

उन्होंने बैठक में उपस्थित मुख्य विकास अधिकारी आकांक्षा कोंडे को निर्देश दिए कि आजीविका से संबंधित सभी योजनाओं की अपने स्तर पर मॉनिटरिंग करते रहें। उन्होंने जनपद में बने अमृत सरोवर की समीक्षा करते हुए कहा कि अमृत सरोवर बनाने का उद्देश्य जल संग्रहण के साथ साथ पर्यटन तथा आजीविका का संवर्धन करना भी है। उन्होंने अमृत सरोवरों में पर्यटन तथा आजीविका के लिए संभावनाओं का सर्वे कर उन पर अग्रिम कार्यवाही करने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। बाल विकास विभाग की समीक्षा करने के दौरान उन्होंने बाल विकास अधिकारी को निर्देश दिए कि जनपद में कुपोषण के उन्मूलन के अंतर्गत कुपोषित बच्चों के बारे में डाटा तैयार करें तथा चिन्हित कुपोषित बच्चों को कुपोषण से बाहर निकलने के लिए जमीनी स्तर पर कार्य किया जाए। साथ ही उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी निर्देश दिए कि ऐसे कुपोषित बच्चों के माता पिता की समय समय पर काउंसलिंग की जाए। 

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं- पुलिस की तत्परता के चलते रूकी नाबालिग लड़की की शादी

उन्होंने स्कूलों में मध्याह्न भोजन योजना के तहत राशन की गुणवत्ता के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए कि समय समय पर राशन की जांच की जाए। उन्होंने कूड़ा निस्तारण की भी समीक्षा की तथा निर्देश दिए कि प्रत्येक ब्लॉक में दो दो ग्राम पंचायतों को मॉडल ग्राम पंचायत बनाई जाएं जहां पर कूड़े का प्रबंध बेहतर तरीके से किया जाता हो। तत्पश्चात सचिव डॉ सुरेंद्र नारायण पांडे ने जनपद के वरिष्ठ नागरिकों, जनप्रतिनिधियों, प्रेस प्रतिनिधियों, संगठनों के पदाधिकारियों के साथ भी बैठक की। तथा जनपद के विकास के संबंध में चुनौतियों एवं संभावनाओं को लेकर सुझाव लिए। इस दौरान उन्होंने सभी की बातों को गंभीरता से सुना तथा उन पर सकारात्मक कार्यवाही का आश्वासन दिया। बैठक में संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत जय किशन,परियोजना निदेशक पुष्पेंद्र सिंह समेत सभी जनपद स्तरीय अधिकारी, वरिष्ठ नागरिक, जनप्रतिनिधि तथा संगठनों के पदाधिकारी समेत अन्य उपस्थित रहे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद