अल्मोड़ा: सामाजिक कार्यकर्ता कुणाल तिवारी का निधन

खबर शेयर करें

अल्मोड़ा। जन कवि गिरीश तिवारी ‘गिर्दा’ के भतीजे और यहां रानीधारा निवासी कुणाल तिवारी का निधन हो गया। वह 41 साल के थे। आज सुबह उन्होंने अपने घर में अंतिम सांस ली। कुछ समय से वह अस्वस्थ चल रहे थे। विश्वनाथ घाट में उनका अंतिम संस्कार किया गया। उनके भाई गौरव ने उनको मुखाग्नि दी। कुणाल उत्तराखंड लोक वाहनी के सक्रिय सदस्य थे और सामाजिक कार्यों में भी बढ़चढ़ भाग लेते थे। परिजनों ने बताया की बीते अक्टूबर माह में कुणाल की ताई का निधन हो गया था। इसके बाद उनकी तबियत ज्यादा बिगड़ गई। उनके निधन पर उत्तराखंड लोक वाहनी के राजीव लोचन साह, अजय मित्र बिष्ट, दया कृष्ण कांडपाल, जगत रौतेला, हुकुम रावत, महेश बिष्ट, जय मित्र बिष्ट, भरत साह आदि ने शोक जताया।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: यहां मिली 14 साल के मोहित की लाश
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद