सूक्ष्म जमा योजना में खुलवाए खाते, पाई-पाई कर जोड़ी रकम, लाखों जमा हुए तो फरार हो गए संचालक

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। सूक्ष्म जमा योजना के नाम पर धोखाधड़ी का मामला प्रकाश में आया है। संस्था के संचालक कई खाता धारकों की लाखों की रकम लेकर चंपत हो गए। इस मामले में पुलिस ने तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

पुलिस को सौंपी तहरीर में रंजीत सागर पुत्र स्व. राजेन्द्र सिंह सागर निवासी अम्बेडकर नगर बरेली रोड ने कहा है कि उसने सहकारिता विभाग उत्तराखंड में पंजीकृत देवभूमि बहुद्देश्यीय स्वयंसेवक सहकारिता के कपिल काॅम्पलैक्स में स्थित प्रधान कार्यालय में सूक्ष्म जमा योजना के तहत एजेण्ट गजेन्द्र नेगी व उसकी पत्नी के माध्यम से खाते खुलवाये।

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद: अल्मोड़ा के शिक्षक और सिदार्थ पार्लर की संचालिका के पति का निधन

जिनमें उसने 1.24 लाख की रकम जमा कराई। जब इस रकम की परिपक्वता राशि की अवधि पूरी हुई तो वह दफ्तर पहुंचा। इस बीच वहां मौजूद हेम पंत ने बताया कि इस संस्था ने काम बंद कर दिया है। इस पर उसे धोखाधड़ी का आभास हुआ। तहरीर पर पुलिस ने मामले में मुकदमा दर्ज कर अपनी जांच शुरू कर दी है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद