रकसिया और कलसिया के प्रकोप से बचाने को बनी कार्य योजना, इन इलाकों में नए निर्माण पर भी लगी रोक

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। जिलाधिकारी वंदना ने  कैम्प कार्यालय में हल्द्वानी, काठगोदाम क्षेत्र में आपदा राहत कार्यों की समीक्षा की। जिसमें उन्होंने पीडब्ल्यूडी, जल संस्थान, वन,  राजस्व, सिंचाई, नगर निगम के अधिकारियों से आपदा राहत कार्यों की जानकारी ली।

उपजिलाधिकारी ने बताया कि अभी हाल ही में 8 अगस्त को कलसिया नाले के उफान पर आने से वहां निवासरत लोगों की परिसम्पत्तियों को काफी नुकसान हुआ है। प्रभावित परिवारों को तत्कालिक अहेतुक सहायता उपलब्ध करवा दी गई है और राशन व अन्य सामग्री की किट भी उपलब्ध करवाई गई है। अपर जिलाधिकारी ने बताया कि पूरे जनपद में अभी तक लगभग 300 प्रभावित परिवारों को अहेतुक सहायता दे दी गई है। आगामी आपदा अलर्ट को देखते हुए विभिन्न नालों में जमा मलबा हटाने के संबंध में भी चर्चा की गई। जिससे भविष्य की बरसात में मलबा बहने के कारण किसी प्रकार की जनहानि को रोका जा सके। साथ ही  बरेला आम नाले के सुधारीकरण हेतु तत्कालिक व स्थाई कार्य योजना के संबंध में वन विभाग रामनगर को निर्देश दिए गए।

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद: यहां पहाड़ में दुल्हन की डोली की जगह अर्थी उठी, नाचते नाचते मौत

बताया गया कि वन विभाग द्वारा बरेला आम नाले के तात्कालिक उपचार हेतु रुपये 15 लाख का आंकलन तैयार किया गया है जिसके अंतर्गत नाले का सुदृढ़ीकरण व मजबूती हेतु वायर क्रेट, चेक डैम व आदि कार्य किये जायेंगे। जिलाधिकारी ने वन विभाग को कल से ही कार्य प्रारंभ करने के निर्देश दिए। बैठक में ईई लोनिवि अशोक चौधरी ने बताया कि सूखी नदी से सड़क की दोनों ओर कटाव  हो गया था। इस पर शनिवार की सुबह से विभाग द्वारा नदी के बहाव से सड़क को बचाने हेतु  ड्रेसिंग (संरक्षण) का कार्य चालू किया जाएगा। जिससे सड़क सुरक्षित रहे और कटाव पर रोक लगाई जा सके।  इस सम्बंध में सम्बन्धित विभाग को स्थाई उपचार हेतु शासन को प्रेषित डीपीआर पर भी  फॉलो अप करने के निर्देश दिए। बैठक में डीएम ने रकसिया व कलसिया नालो में एकत्रित सिल्ट के निस्तारण हेतु अपर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में समिति गठन कर प्रस्ताव तैयार करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  एक और हादसा- अनियंत्रित कार खाई में गिरने से दो बच्चों समेत चार की मौत

बैठक में राजस्व, वन व नगर निगम के अधिकारियों द्वारा बताया कि नालों से लगते इलाकों में स्टाम्प के जरिये अवैध रूप से भूमि विक्रय की जा रही है, जो कानूनी रूप से गलत है। इसके साथ ही नालों के समीप की भूमि पर कब्जा कर आवास बनाये जा रहे हैं। भविष्य में नालों की चौड़ाई कम होने से आपदा में गंभीर जनहानि होने की संभावना बनी हुई है। इस सम्बंध में जिलाधिकारी ने सिटी मजिस्ट्रेट, नगर आयुक्त व वन विभाग के अधिकारियों को संयुक्त रूप से कलसिया और रकसिया नाले का सर्वे करते हुए नए निर्माण पर रोक हेतु प्रभावी कार्यवाही करने के निर्देश दिए और कहा कि इस प्रकार के स्थलों की ड्रोन मैपिंग कराई जाए जिससे अब तक हुए निर्माण की पूरी जानकारी रहे व भविष्य में होने वाले निर्माण कार्यों पर रोक लगाई जा सके। बैठक में अपर जिलाधिकारी अशोक जोशी, नगर आयुक्त पंकज उपाध्याय, उपजिलाधिकारी मनीष कुमार, ईई लोनिवि अशोक चौधरी, सिंचाई अमित बंसल व जल संस्थान रवि शंकर लोशाली उपस्थित थे। 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद