कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष ने चमोली घटना के लिए यूपीसीएल को ठहराया जिम्मेदार, इस मांग को लेकर मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

खबर शेयर करें

देहरादून। उत्तराखण्ड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष करन माहरा ने जनपद चमोली में अलकनंदा नदी के तट पर नमामि गंगे परियोजना स्थल पर हुए हादसे के घटना स्थल का दौरा कर स्थानीय लोगों से बातचीत कर घटना की जानकारी ली तथा मृतकों के परिजनों एवं घायलों से मुलाकात की।

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने वरिष्ठ कांग्रेस नेताओं के साथ घटना का दौरा किया तथा स्थानीय लोगों व कांग्रेसजनों से बातचीत कर घटना की जानकारी ली। उन्होंने यह भी बताया कि करन माहरा ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को पत्र लिख कर इस घटना के लिए यूपीसीएल के अधिकारियों व कर्मचारियों की जिम्मेदारी तय करते हुए कार्रवाई की मांग की है। मुख्यमंत्री को लिखे पत्र मे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने दिनांक 19 जुलाई, 2023 को जनपद चमोली में नमामि गंगे परियोजना के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में करंट लगने से हुए भीषण हादसे की ओर मुख्यमंत्री का ध्यान आकर्षित कराते हुए कहा है कि यूपीसीएल की घोर लापरवाही के चलते इस हादसे में 16 लोगों को असमय अपनी जान गवांनी पडी तथा कई लोग बुरी तरह घायल हुए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी एमबीपीजी में प्रवेश को लेकर ये है बड़ा अपडेट

श्री माहरा ने कहा कि उन्होंने स्वयं घटना स्थल पर पहुंचकर स्थिति की जानकारी ली जिसमें ज्ञात हुआ कि एक ही परिवार के 4 लोगों की इस हादसे मे मौत हुई है जिनके परिवार में अब केवल महिलाएं रह गई हैं। उन्होंने कहा कि यूपीसीएल की लापरवाही के कारण हुई दिल दहलाने वाली इस घटना के कारण क्षेत्र में भय का माहौल है तथा लोगों में भारी रोष व्याप्त है। पीड़ित परिवारों को राज्य सरकार की ओर से भी अभी तक कोई राहत नहीं मिल पाई है। हादसे में मारे गये लोगों के परिजनों एवं घायलों को तात्कालिक सहायता पहुंचाई जानी नितांत आवश्यक है।

यह भी पढ़ें 👉  दर्दनाक हादसा- कंचनजंगा एक्सप्रेस हादसे में 5 की मौत, रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव रवाना

करन माहरा ने मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी से मांग की है कि चमोली जनपद में घटित इस घटना के प्रत्येक मृतक के परिजनों को 50-50 लाख रूपये तथा घायलों को 10-10 लाख रूपये की तात्कालिक सहायता राशि प्रदान की जाय तथा जिस एक ही परिवार के चार सदस्य इस हादसे में मारे गये हैं उस परिवार को राज्य सरकार गोद ले तथा उनके एक आश्रित को सरकारी नौकरी प्रदान की जाय। साथ ही हादसे की उच्च स्तरीय जांच करते हुए हादसे के लिए जिम्मेदारी तय की जानी चाहिए तथा दोषी अधिकारी व कर्मचारियों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्रवाई सुनिश्चित की जाय ताकि भविष्य में इस प्रकार के हादसों की पुनरावृत्ति न हो। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष  करन माहरा के साथ वरिष्ठ कांग्रेस नेता मनीष खण्डूरी, पूर्व जिलाध्यक्ष वीरेन्द्र सिंह रावत थोकदार, जिलाध्यक्ष चमोलीमुकेश नेगी, जिलाध्यक्ष रूद्रप्रयाग कुंवर सिंह सजवाण, प्रदेश महामंत्री नीरज त्यागी, हरिकृष्ण भट्ट, नवनीत सती, गिरीष पपनै एवं संतोष रावत भी घटना स्थल पर उपस्थित थे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद