उत्तराखंड में बेनाप भूमि को गांव के लोगों को देने, सशक्त भू कानून बनाने की मांग तेज, अल्मोड़ा से लोगों ने उठाई आवाज

खबर शेयर करें

अल्मोड़ा। राज्य में बेनाप भूमि को गांव समाज को सौंपे जाने, बाकी हिमालय राज्यों की तरह सशक्त भू कानून बनाया जाने की मांग अब फिर तेज होने लगी है। इसको लेकर आज अल्मोड़ा में उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी समेत कई जन संगठनों ने संयुक्त रूप से चौघानपाटा गांधी पार्क में जनसभा की। मुख्य बाजार में भू माफिया भगाओ उत्तराखंड बचाओ के नारे के साथ विशाल रैली निकाली। इसमें प्रदेश के अलग अलग जिलों के जन संगठनों से जुड़े लोगो ने हिस्सा लिया। इस मौके पर उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कहा कि उत्तराखंड में भू माफियाओं के तेजी से दखल बढ़ रहा है। सरकारी संरक्षण में भू माफिया नगरों से लेकर गांव तक बड़े पैमाने पर जमीन कब्जा रहे है। जिससे लोगो मे भयंकर आक्रोश है। उन्होंने त्रिवेंद्र सरकार में लाये गए भूमि खरीद कानूनों को वापस लेने समेत भूमाफियाओं, दलालों व भ्र्ष्ट अफसरों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की है। उन्होंने कहा कि राज्य में कड़ा भू कानून लाया जाय, तय सीमा से अधिक की जमीन की खरीद फरोख्त पर रोक लगाई जाए, वन अधिकार कानून को लागू किया जाने की मांग की गई। इस दौरान उत्तराखण्ड महिला मंच, उत्तराखण्ड परिवर्तन पार्टी, उत्तराखण्ड किसान सभा, उत्तराखण्ड इंसानियत मंच, चेतना आंदोलन, सालम समिति सहित उत्तराखंड के अन्य संगठनों के लोग मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: यहां मिली 14 साल के मोहित की लाश
लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद