जिलास्तरीय विकास प्राधिकरण की फर्जी मुहर से स्वीकृत हो गया नक्शा, जांच में हुआ खुलासा

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। भवन का मानचित्र पास करने में गड़बड़झाला उजागर होने से खलबली मची हुई है। बताया गया है कि आवेदक को जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण की फर्जी मुहर और कागजों के माध्यम से मानचित्र जारी कर दिया गया। यह मामला जांच में पकड़ में आया तो पुलिस को तहरीर सौंपी गई। 

जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण की संयुक्त सचिव व सिटी मजिस्ट्रेट ऋचा सिंह ने बताया कि विगत दिनों राम सिंह पुत्र शोभन सिंह निवासी करायल जौलासाल हल्द्वानी द्वारा अपने भवन मानचित्र के नवीनीकरण हेतु जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण क्षेत्रीय कार्याल हल्द्वानी में आवेदन किया गया। भवन के नक्शे का जब कार्यालय अभिलेखों से मिलान किया गया तब कार्यालय अभिलेखों में यह अंकित होना नहीं पाया गया।

यह भी पढ़ें 👉  गेठिया के जंगल में सड़ी-गली हालत में मिला अज्ञात शव, सनसनी

भवन स्वामी से पूछने पर उनके द्वारा बताया गया कि पूर्व में गणेश पटकी निवासी भट्ट निवास सरस्वती विहार लाल डांठ रोड हल्द्वानी द्वारा मेरा नक्शा पास कराया गया था। गणेश पटकी द्वारा कार्यालय संयुक्त सचिव जिला स्तरीय विकास प्राधिकरण क्षेत्रीय कार्यालय हल्द्वानी के फर्जी मोहर का उपयोग करने , अधिकारियों की फर्जी हस्ताक्षर का प्रयोग करने, राम सिंह के साथ ठगी करने व कूट रचित राजकीय अभिलेख तैयार करने एवम राजकीय विभाग की छवि धूमिल करने के आरोपी में कोतवाली पुलिस को तहरीर सौंपी गई है। कोतवाल उमेश मलिक का कहना है कि मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है। 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद