Subscribe our YouTube Channel

जागेश्वर के युवक के खाते में आई 4 लाख से अधिक रकम….. युवक हैरान… अब वापस मांगी जा रही रकम…. ये है पूरा मामला

Breaking News - Sajag Pahad (सजग पहाड़)
खबर शेयर करें

अल्मोड़ा। मोबाइल पर एकाएक करीब साढ़े चार लाख रुपये उसके खाते में जमा होने का मैसेज देख युवक हैरानी में पड़ गया। बैंक में पहुंचने पर इस बात की पुष्टि हो गई कि संबंधित खाते में ये रकम आई है। लेकिन खाता महिला स्वयं सहायता समूह का निकला। युवक की पत्नी ने महिला समूह के बैंक खाते में पति का मोबाइल नंबर दिया था। इधर, अब ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारी संबंधित खाते में गलती से ये धनराशि आने का हवाला देकर रकम वापस मांगने लगे हैं। यह मामला क्षेत्र में काफी चर्चा में है। हालांकि महिलाओं और उनके परिजनों का कहना है कि संभवत: केंद्र या राज्य सरकार ने उनके खाते में ये रकम डाली है। वह लोग अधिकारियों को रकम लौटने को राजी नहीं हैं।

जागेश्वर निवासी हरीश भट्ट उर्फ नाथू ने बताया उनके मोबाइल पर मैसेज आया कि बैंक खाते में 3.91 लाख आए हैं। अगले ही दिन हरीश के मोबाइल पर एक और मैसेज आया जिसमें उनके खाते में 35 हजार रुपये जमा होने की जानकारी मिली। इस पर हरीश आश्चर्य में पड़ गए कि उनके खाते में इतनी बड़ी रकम कैसे पहुंची।अगले दिन जब नाथू बैंक पहुंचे तो वहां भी इस बात की पुष्टि हुई कि उनके खाते में चार लाख से ज्यादा की रकम आई है। इससे हरीश फूले नहीं समाए। लेकिन जब बैंक वालों ने डिटेल खंगाली तो खाता निर्बल वर्ग स्वयं सहायता समूह का निकला।

यह भी पढ़ें 👉  'राजा हिंदुस्तानी' की आरती उत्तराखंड में, इंस्टाग्राम में लिखा ''मेरा दिल कहीं दूर पहाड़ों में खो गया'

दरअसल, नाथू की पत्नी भी इस महिला समूह से जुड़ी हुई हैं। खाता खुलवाते वक्त उन्होंने इसके साथ नाथू का मोबाइल नंबर जोड़ा था। खाते में रकम निकालने या जमा होने पर हर एसएमएस नाथू के ही मोबाइल पर आता है। करीब एक माह तक ये पता नहीं चल पाया कि आखिर इतनी बड़ी रकम इस खाते में कहां से आई है। समूह के सदस्य खाते में रकम डालने के लिए पीएम और सीएम का अभार जताते फिर रहे थे।

यह भी पढ़ें 👉  दिल्ली एमसीडी चुनाव में जीते अल्मोड़ा के रवि नेगी, यहां विधान सभा चुनाव में रहे थे सक्रिय, पढ़े खबर

शुक्रवार को ग्राम्य विकास विभाग के अधिकारी गांव पहुंच गए। उन्होंने समूह की सभी महिलाओं के साथ बैठक की। बताया कि ये धनराशि इस समूह के खाते में भूलवश पड़ गई है। लिहाजा वह उस धनराशि को तत्काल विड्रॉल कराकर उनके सुपुर्द करने की बात कहने लगे थे। लेकिन महिलाएं मानी नहीं। उनका कहना था कि एक माह तक संबंधित अधिकारियों को ये बात पता क्यों नहीं चली कि इतनी बड़ी रकम किसी दूसरे खाते में ट्रांसफर हो गई है। इस पर बैठक को आई टीम को बैरंग लौटना पड़ा।

यह भी पढ़ें 👉  छात्र संघ चुनाव को लेकर बड़ा अपडेट, ये डेट हुई तय

मैं समझा सरकार ने डाले रुपये : नाथू

नाथू ने कहा कि जब उनके खाते में करीब सवा चार लाख से अधिक रकम आने से संबंधित मैसेज मोबाइल पर आया तो वह काफी खुश हो गए थे। बकौल नाथू मैं सोच रहा था कि केंद्र सरकार ने मेरे खाते में ये रकम डाली है। इस पर उस रात नाथू का परिवार अत्यंत उत्साहित हुआ था। पूरा परिवार केंद्र सरकार का अभार जता रहा था। नाथू के खाते में लाखों रुपये आने का मामला पूरे जागेश्वर क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ था।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments