बैठक में नहीं पहुंचे अफसर…….अल्पसंख्यक आयोग उपाध्यक्ष हुए सख्त, अब होगी कार्रवाई

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। अल्पसंख्यक आयोग उपाध्यक्ष मजहर नईम नवाब ने मंगलवार को सर्किट हाउस काठगोदाम में जन-जानकारी अभियान कार्यक्रम की समीक्षा बैठक के दौरान अनुपस्थित अधिकारियों को नोटिस तलब करने के साथ ही सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये। 

समीक्षा के दौरान कुछ अधिकारी विभाग की योजनाओं के बारे मे संतोषजनक जानकारी नहीं देने पर उन्होंने गम्भीरता से लिया है। उन्होंने कहा ऐसे अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्यवाही अमल में लाई जाए। कहा कि अधिकारियों को केन्द्र और प्रदेश सरकार की ओर से संचालित जनकल्याणकारी योजनाओं के बारे में विस्तार से जानकारी हो, तभी हम समाज के अन्तिम छोर के व्यक्ति तक संचालित योजनाओं का लाभ दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि विभागीय अधिकारियों का आपसी समन्वय न होने से सरकार को करोड़ों का आर्थिक नुकसान होता है। उन्होंने इस बात पर गहरी नाराजगी जताई कि सड़क का निर्माण पूर्ण होने के बाद सीवर, पेयजल लाईन के लिए दोबारा सड़क की खुदाई की जाती है। उन्होंने लोनिवि, जलनिगम, जलसंस्थान, नगर निगम एवं एडीबी के अधिकारियों को निर्देश दिये कि संयुक्त सर्वे कर आपसी समन्वय के साथ कार्य करें।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में फिर महसूस किए गए भूकंप के झटके, दहशत

विद्युत विभाग की समीक्षा के दौरान आयोग उपाध्यक्ष ने खराब मीटरों की शिकायतों का शीघ्र निस्तारण के साथ ही अधिकांश लोग लगातार विद्युत मीटर खराब कर सरकार को आर्थिक नुकसान पहुचाने वालों की सूची बनाकर नियमित चैकिंग के निर्देश दिए। कहा कि पेयजल निगम द्वारा वनभुलपूरा क्षेत्र में सड़कों पर कार्य पूर्ण होने के उपरान्त जो पेचवर्क किया गया है, वह गुणवत्तायुक्त नहीं है। उन्होंने पेंचवर्क कार्य को गुणवत्ता कराने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उद्यान विभाग की समीक्षा के दौरान रामनगर प्रयोगशाला नर्सरी के अभिलेख 3 दिनों के भीतर प्रस्तुत करने के निर्देश उद्यान अधिकारी को दिये। साथ ही शिक्षा विभाग की समीक्षा में जिला शिक्षा अधिकारी को बच्चों को केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं की जानकारी देने को कहा गया। साथ ही जिले के जीर्ण-क्षीर्ण विद्यालयों की सूची भी देने के निर्देश दिये गए।

यह भी पढ़ें 👉  नियम तोड़ने के बाद जज पर रौब गांठने लगा जज का बेटा, कार सीज

चिकित्सा विभाग की समीक्षा में मुख्य चिकित्साधिकारी को मलिन बस्तियों में चिकित्सा शिविर के साथ ही आयुष्मान कार्ड के शिविर लगाने के निर्देश दिये, साथ ही जेल परिसर में कैदियों के लिए भी चिकित्सा शिविर लगाया जाए। उन्होंने बेस व सुशीला तिवारी चिकित्सालयों में डाक्टरों के ओपीडी में समय से ना पहुचने पर नाराजगी व्यक्त की। उन्होंने सीएमओ को नियमित मॉनिटरिंग करने के निर्देश दिये। लीड बैंक की समीक्षा के दौरान कहा कि सरकार द्वारा संचालित योजनाओं के लिए पात्र लाभार्थियों को लोन दिया जाए और लाभार्थियों की सूची भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। पुलिस विभाग की समीक्षा के दौरान अल्पसंख्यकों के 13 शिकायतें दर्ज हुई। जिनका समाधान किया गया। इस दौरान उन्होंने अनुसूचित जाति, जनजाति व अल्पसंख्यक लोगों की समस्याओं को भी सुना और समाधान किया। बैठक में सीएमओ डॉ भागीरथी जोशी, एसपी सिटी हरबंश सिंह, मुख्य उद्यान अधिकारी डॉ आरके सिंह, अधिशासी अभियंता लोनिवि अशोक चौधरी, जिला समाज कल्याण अधिकारी दीपांकर घिल्डियाल, जिला शिक्षा अधिकारी नागेन्द्र बर्थवाल के साथ ही जनपद स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद