नए प्रावधान का विरोध……टैक्सियों और बसों की हड़ताल, यात्री हलकान

खबर शेयर करें

हल्द्वानी। दुर्घटना होने पर चालक को 10 वर्ष का करावास और पांच लाख अर्थदंड वसूलने के नए प्रावधान का विरोध शुरू हो गया है। इसके चलते ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट यूनियन कांग्रेस की तीन दिनी देशव्यापी हड़ताल शुरू कर दी है। इस हड़ताल को महासंघ टैक्सी यूनियन कुमाऊं मंडल ने समर्थन दिया है। ऐसे में बुधवार तक टैक्सियां नहीं चलेंगी। जिसके चलते पर्यटक इधर उधर भटक रहे हैं।

महासंघ टैक्सी यूनियन कुमाऊं मंडल के अध्यक्ष ठाकुर सिंह बिष्ट ने देशव्यापी हड़ताल का यूनियन समर्थन किया है। एक से तीन जनवरी तक तीन दिनी देशव्यापी हड़ताल को केमू समेत अन्य का समर्थन है। कुमाऊं टैक्सी महासंघ भी इस बंद का पूर्ण समर्थन करता है। उन्होंने समस्त विभागों में अधिग्रहित व्यावसायिक वाहन चालकों/मालिकों से अनुरोध किया है कि वह भी इस बंद में अपना पूर्ण समर्थन दें।

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद: अल्मोड़ा के शिक्षक और सिदार्थ पार्लर की संचालिका के पति का निधन

नए कानून में दुर्घटना की स्थिति में ट्रक चालक पर सात लाख रुपये का जुर्माना और 10 साल कैद की सजा का प्रावधान किया गया है। जो ट्रक चालक की आर्थिक स्थिति के अनुसार गलत है। इधर इस हड़ताल का असर पहले ही दिन देखने को मिल रहा है। बसों और टैक्सियों के चक्के जाम होने से यात्रियों को इधर उधर भटकते देखा जा रहा है। 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद