भिक्षावृत्ति और कूड़ा बीनने वाले बच्चों के लिए रेस्क्यू अभियान, 30 को इन जगहों में भेजा

खबर शेयर करें

देहरादून। एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून द्वारा जिला टास्क फोर्स, चाइल्ड लाइन एवं विभिन्न गैर सरकारी व सरकारी विभागों के साथ मिलकर किया गया 30 बच्चों को रेस्क्यू किया।

एन्टी ह्यूमन ट्रैफिकिंग यूनिट देहरादून द्वारा नोडल अधिकारी / पुलिस उपाधीक्षक नीरज सेमवाल के निर्देश पर प्रभारी एन्टी ह्यूमन उप निरीक्षक मनमोहन सिंह नेगी के निकट निर्देशन में विभिन्न सरकारी व गैर सरकारी विभागों, संगठनों से समन्वय स्थापित कर भिक्षावृत्ति की रोकथाम एवं ऐसे बच्चे जो भीख मांगने, कबाड़ उठाने एवं कूड़ा बीनने में मजबूर हैं जिनकी देखरेख व संरक्षण की आवश्यकता है उनके सर्वोत्तम हितों को ध्यान में रखकर रेस्क्यू अभियान चलाया गया।

यह भी पढ़ें 👉  एक और हादसा- अनियंत्रित कार खाई में गिरने से दो बच्चों समेत चार की मौत

जिसमें आईएसबीटी एवं शिमला बाई पास से भीख मांगने, एवं कूड़ा बीनने वाले  15 बालक, 10 बालिकाओं सहित 05 महिलाओं को रेस्क्यू किया गया। जिनकी बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत कर काउंसलिंग करायी गयी तथा उनके सर्वात्तम हितों को ध्यान में रखते हुए 05 बालिकाओं को सरफीना ट्रस्ट (खुला आश्रय गृह) 04 बालकों, 01 बालिका को शिशु निकेतन, 09 बालकों को समर्पण सोसाइटी (खुला आश्रय गृह) एवं 05 महिलाओं व उनके 06 बच्चों को वीरांगना तीलू रौतेली छात्रावास में भेजा गया ।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद