चाकू से गोदकर रिक्शा चालक को उतारा मौत के घाट, यह बताई जा रही वजह

खबर शेयर करें

जसपुर। यहां एक सनसनीखेज घटना सामने आई है। रिक्शा चालक की गर्दन कटी लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैली हुई है। इस घटना को आपसी विवाद में अंजाम देना सामने आया है। बताया जा रहा है कि मृतक के घर में अक्सर विवाद रहता था। इस घटना के बाद से मृतक के आरोपित भाई और पिता फरार बताए जा रहे हैं। पुलिस ने साक्ष्य जुटाने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार यह घटना बुधवार की बताई जा रही है। जबकि मृतक का शव गुरूवार की देर रात बरामद हुआ है। बताया जा रहा है कि मोहल्ला भट्टा कॉलोनी नई बस्ती निवासी नदीम (30 वर्ष) पुत्र हबीब अहमद ई-रिक्शा चलाता था। बुधवार को किसी बात को लेकर उसका अपने भाई के साथ विवाद हो गया था। गुरुवार रात उसकी गर्दन कटी लाश घर में उसके कमरे में मिली। सूचना पर पहुंची पुलिस ने लाश का परीक्षण किया। तलाशी के दौरान मकान की छत पर पुलिस को छुरी मिली है। बताते हैं कि नदीम नशे का आदी था। उसके परिवार में आए दिन विवाद होते रहते थे। घटना से पूर्व भी भाइयों के बीच विवाद होने की बात कही गई है। मोहल्लेवासियों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव का परीक्षण किया। मृतक का गला छुरी से कटा हुआ है। घटना के बाद दोनों भाई और पिता फरार बताए जाते हैं। नदीम की हत्या को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं हैं।

यह भी पढ़ें 👉  दुःखद: अल्मोड़ा के शिक्षक और सिदार्थ पार्लर की संचालिका के पति का निधन

कोतवाल आशुतोष कुमार सिंह ने बताया कि अभी हत्या का कारण स्पष्ट नहीं है। सूचना पर फॉरेंसिक टीम मौके पर पहुंच गई है। कुछ लोगों ने नदीम के शव के फोटो खींचकर सोशल मीडिया पर वायरल कर दिए। इसके बाद नदीम को देखने के लिए मोहल्ले समेत आसपास के सैकड़ो लोग आ गए । पुलिस को उन्हें हटाने में मशक्कत करनी पड़ी। देर रात मृतक नदीम की पत्नी रामनगर से अपनी ससुराल पहुंच गई। उसके घर पहुंचते ही परिवार में कोहराम मच गया। वहीं मौके पर जुटी भीड़ में हर कोई नदीम की मौत की वजह जानना चाहता था। परिजनों से पूछताछ के बाद एसपी अभय प्रताप सिंह ने ई रिक्शा चालक की हत्या होना बताई। उन्होंने शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया। वहीं मायके से पहुंची नदीम की पत्नी शव से लिपटकर रोने लगी। उसका रोना देखकर आसपास की महिलाओं के आंखों में भी आंसू आ गए। मौके पर पूर्व पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि हाजी जाहिद, हाजी राशिद, शहजाद, मोनू, चांद, वसीम आदि रहे।काशीपुर के एएसपी अभय सिंह ने कहा कि यह हत्या का मामला है। 20 दिसंबर को तीनों भाइयों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हुआ था। मृतका की मां के अनुसार भाई और बाप ने मिलकर युवक की हत्या की है। अभी तहरीर नहीं मिली है।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद