Subscribe our YouTube Channel

Almora में धारा 144 लागू: लाठी, डंडा, चाकू, और हॉकी, पटाखे, बम को लेकर डीएम के ये निर्देश, 5 से अधिक व्यक्ति…..………

खबर शेयर करें

Almora न्यूज: डीएम वंदना सिंह ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग की ओर से 8 जनवरी, 2022 को विधानसभा समान्य निर्वाचन 2022 की घोषणा करने के बाद आदर्श आचार संहिता प्रभावी हो चुकी है।

बताया कि विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 के दौरान शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिले की सीमान्तर्गत दंड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 लागू कर दी गई है। जिसके तहत जनपद अल्मोड़ा की सीमान्तर्गत संबंधित परगना मजिस्ट्रेट तथा संबंधित रिटर्निंग ऑफिसर अथवा सक्षम अधिकारी की पूर्व अनुमति के बिना सार्वजनिक स्थलों पर 5 या 5 से अधिक व्यक्ति समूह के रूप में एकत्र नहीं होंगे और ना ही कोई सभा करेंगे और ना ही कोई जुलूस आदि निकालेंगे। शादी, विवाह के समारोह तथा शव यात्राएं इस आदेश से मुक्त रहेंगे।

कोई भी व्यक्ति, दल अथवा संगठन आग्नेय अस्त्र, लाठी, डंडा, चाकू, स्टिक, हॉकी, भुजाली, खुखरी, तलवार अथवा कोई तेज धार वाला शस्त्र ,पटाखे, बम, अन्य किसी प्रकार बारूद अथवा बिना बारूद वाला शस्त्र लेकर नहीं चलेगा और ना ही परिवहन करेगा।कोई भी व्यक्ति बिना लिखित अनुमति के सुबह 6ः00 बजे से पूर्व एवं रात्रि 10ः00 बजे के बाद किसी भी दशा में ध्वनि विस्तारण यंत्र का प्रयोग नहीं करेगा तथा उसे स्थाई रूप से एक स्थान पर नियत(फिक्स) नहीं करेगा। विद्यालयों, चिकित्सालयों तथा धार्मिक स्थलों के समीप ध्वनि विस्तारक यंत्रों का प्रयोग नहीं किया जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा…पत्रकार, अधिवक्ता दिनेश पांडे का निधन

कोई भी व्यक्ति सार्वजनिक स्थान पर ईट, पत्थर रोड़े या फेक कर मारे जाने वाली वस्तुए एकत्रित नहीं करेगा और न करायेगा। कोई भी व्यक्ति किसी सार्वजनिक स्थान पर किसी के प्रति अपमानजनक भाषा का प्रयोग नहीं करेगा और न ही ऐसे नारे लगायेगा जिससे किसी की भावनाओं को ठेस पहुॅचे या शान्ति भंग होने की सम्भावना हो। कोई भी व्यक्ति किसी प्रकार की झूठी अफवाहों या अखबार को प्रकााित/प्रसारित जनता विभिन्न वर्गों, सम्प्रदायों के साथ घृणा व द्वेष की भावना हो अथवा शान्ति भंग होने की सम्भावना हो।

कोई भी राजनैतिक दल किसी दल के सम्बन्ध में सिवाय उसकी नीति कार्यक्रमों एवं उसके द्वारा किए गये कार्यों की आलोचनात्मक समीक्षा के अतिरिक्त कोई भी व्यक्तिगत अथवा कोई ऐसा आक्षेप नहीं लगायेगा जिससे निर्वाचन प्रक्रिया में वैमनस्यता उत्पन्न हो।

उन्होंने बताया कि प्रत्येक राजनैतिक दल यह सुनिचित करेंगे कि उसके प्रचारक किसी भी अन्य पार्टी को गोष्ठी, कार्यक्रमों में किसी प्रकार का व्यवधान उत्पन्न नहीं करेंगे। कोई भी व्यक्ति एवं राजनैतिक दल जातिगत एवं धार्मिक भावनाओं को, मतों को आकृष्ट करने के उद्देश्य से नहीं भड़कायेगा। कोई भी व्यक्ति शिक्षण संस्थानों, दुकानों एवं सार्वजनिक प्रतिष्ठानों आदि को जबरदस्ती बन्द कराने का न तो प्रयास करेगा न ही इसके लिए प्रेरित् करेगा। कोई भी व्यक्ति या राजनैतिक दल धार्मिक स्थान जैसे मन्दिर, मस्जिद, गुरूद्वारा एवं चर्च आदि का प्रयोग चुनाव प्रचार-प्रसार हेतु नहीं करेगा। प्रत्याशियों के प्रचार के लिए प्रयोग किये जा रहे वाहनों में भार वाहक क्षमता से अधिक व्यक्ति सवार नहीं होंगे।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा…पत्रकार, अधिवक्ता दिनेश पांडे का निधन

जन सुविधा एवं यातायात की सुगमता को ध्यान में रखते हुए किसी जुलूस में 03 से अधिक वाहनों का प्रयोग नहीं किया जायेगा। वाहनों का पंजीकरण आरओ/एआरओ को उपलब्ध कराया जाना आवश्यक होगा। कोई भी राजनैतिक दल तथा प्रत्याशी मतों को आकृष्ट करने के उद्देश्य से न ही किसी हो डरायेगा, न ही रिश्वत देगा और न ही अपने पक्ष में करने के लिए उपहार, पैसा/धन देगा और न ही भोजन पार्टी का आयोजन करेगा।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा…पत्रकार, अधिवक्ता दिनेश पांडे का निधन

कोई भी राजनैतिक दल तथा प्रत्याशी मतदाताओं को मतदान दिवस पर उनके मतदेय स्थलों तक व्यक्तिगत अथवा अन्य वाहनों से नहीं पहुॅचायेगा। कोई भी व्यक्ति अथवा राजनैतिक दल सड़क पर न तो मंच बनाकर वक्तव्य देगा और न ही सड़क खोदकर गड्ढा एवं सड़क द्वारा बनाएगा। जनपद में स्थापित समस्त मतदान केन्द्रों से 200 मीटर के अन्दर मतदान अभ्यर्थी या चुनाव अभिकर्ता, मतदान अभिकर्ता एवं निर्वाचन कार्य से सम्बन्धित शान्ति व्यवस्था में संलग्न अधिकारी एवं कर्मचारी पुलिस बल के अतिरिक्त अन्य कोई व्यक्ति प्रवेश नहीं करेगा।


यह आदेश तत्काल प्रभाव से प्रभावी होगा एवं जनपद अल्मोड़ा सीमा अर्न्तगत विधानसभा सामान्य निर्वाचन-2022 की प्रक्रिया पूर्ण होने तक लागू रहेगा। यदि इससे पूर्व इसे संशोधित या समाप्त ना कर दिया जाए। वर्तमान में परिस्थितियां तत्कालीन एवं आपातकालीन स्वरूप की है और यह संभव नहीं है कि यह आदेश किसी व्यक्ति/ व्यक्तियों के समूह पर तामिल किया जा सके। अतः यह आदेश एक पक्षीय पारित किया जाता है। इस आदेश का उल्लंघन भारतीय दंड संहिता की धारा-188 के अंतर्गत दंडनीय होगा।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments