यहां कम नहीं हुआ बाघ का आतंक, एक और महिला को बनाया शिकार

खबर शेयर करें

कोटद्वार। लैंसडाउन इलाके में बाघ का आतंक थम नहीं रहा है। यहां ग्रामसभा झर्त निवासी एक वृद्धा को बाघ ने मार डाला। इस घटना से लोगों में दहशत और बढ़ गई है।

जानकारी के अनुसार झर्त निवासी विशम्भरी देवी (76 वर्ष) शुक्रवार शाम रथुवाढ़ाब के नजदीक जंगल में घास लेने गयी हुई थी। जब वह देर शाम तक घर नहीं पहुंची तो ढूंढखोज शुरू की गई। इस बीच जंगल में महिला का क्षत-विक्षत शव पड़ा मिला। बाघ घास काटने के दौरान महिला पर हमला बोल उसे जंगल में ले गया।

यह भी पढ़ें 👉  एक और हादसा- अनियंत्रित कार खाई में गिरने से दो बच्चों समेत चार की मौत

इस घटना के बाद से ग्रामीणों में दहशत और बढ़ गई है। बता दें कि पूर्व में भी लैंसडौन क्षेत्र के धुमाकोट और रिखणीखाल में 13 और 15 अप्रैल को बाघ ने हमला कर दो लोगों को मार दिया था। उस दौरान डीएम पौड़ी आशीष चौहान ने दोनों तहसीलों के दर्जनों गांवों में नाइट कर्फ्यू लगा दिया था, तब ग्रामीण कई दिन तक घरों में कैद होकर रह गए थे। लेकिन एक बार फिर अब बाघ ने लोगों को अपना निवाला बनाना शुरू कर दिया है। 

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद