उत्तराखंड: सचिवालय का यह अफसर घूस लेते गिरफ्तार….. ऐसे पकड़ा गया…..

खबर शेयर करें

देहरादून। रिटायर्ड एक अभियंता से घूस लेने के आरोप में सचिवालय में तैनात समीक्षा अफसर को विजिलेंस की टीम ने रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है।सिंचाई विभाग में तैनात समीक्षा अधिकारी कमलेश थपलियाल को 75000 रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया है। एसपी विजिलेंस धीरेंद्र गुंज्याल ने बताया कि रिटायर्ड एक अभियंता से एक काम के एवज में 100000 रिश्वत मांगी जा रही थी जिस पर बातचीत करते हुए ₹75000 में सौदा तय हुआ। देर शाम कमलेश थपलियाल को ₹75000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़ लिया।

ये था मामला
25 फरवरी को शिकायतकर्ता कृष्ण चंद्र अग्रवाल ने शिकायत दी कि उनके पिता महेश चंद्र अग्रवाल सिंचाई विभाग के मनेरी भाली परियोजना से कनिष्ठ अभियंता के पद से अप्रैल 2008 को सेवानिवृत्त हुए थे। स्टोर से संबंधित कुछ मदों में सामान की कमी के चलते उनकी ग्रेच्युटी रोकी गई। जिसमें वर्ष 2013 में कटौती की गई। कटौती के संदर्भ में शिकायतकर्ता ने ट्रिब्यूनल कोर्ट में याचिका दाखिल की। ट्रिब्यूनल ने शिकायतकर्ता के पक्ष में निर्णय दिया। निर्णय के खिलाफ सिंचाई विभाग की ओर से हाईकोर्ट में अपील की गई। हाईकोर्ट ने भी शिकायतकर्ता के पक्ष में निर्णय दिया व स्पष्ट किया कि पीड़ित को देय धनराशि का शीघ्र भुगतान की जाए।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा अग्निकांड- एक और घायल की मौत, अब तक पांच मौतें

कोर्ट के आदेश के बाद 22 फरवरी 2022 को सचिवालय में सिंचाई विभाग के अनुभाग अधिकारी अनिल पुरोहित ने शिकायतकर्ता को फोन किया। अनुभाग अधिकारी अनिल कुमार ने उन्हें भुगतान किए जाने के संबंध में कुछ स्पष्टीकरण जानने के लिए 24 फरवरी को सचिवालय बुलाया। शिकायतकर्ता अपने बेटे कृष्ण चंद्र अग्रवाल के साथ सचिवालय पहुंचे। वहां अनुभाग अधिकारी अनिल पुरोहित व समीक्षा अधिकारी केपी थपलियाल से मुलाकात हुई। उन्होंने कोर्ट के आदेश के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में एसएलपी दाखिल न करने व देय भुगतान कराने के लिए शिकायतकर्ता से एक लाख रुपये की मांग की। बाद में उनके बीच 75 हजार रुपये पर बात तय हो गई।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद