बागेश्वर उप चुनावः मतदान में न होने पाए किसी प्रकार की रूकावट, शंकाओं का कर लें समाधान

खबर शेयर करें

बागेश्वर। यहां उप चुनाव को शांतिपूर्ण सुचारू संपादन के लिए पीठासीन अधिकारी, मतदान अधिकारी प्रथम, द्वितीय तृतीय के साथ ही जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट को द्वितीय प्रशिक्षण दिया गया। जिन्हें मास्टर ट्रेनरों ने दो पालियों में सैद्धान्तिक और व्यवहारिक प्रशिक्षण दिया गया।

डिग्री कॉलेज में आयोजित प्रशिक्षण में मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी ने कहा कि मतदान में पीठासीन अधिकारी व मतदान कार्मिकों की भूमिका महत्वपूर्ण है। इसलिए मतदान कार्मिक सैद्धान्तिक के साथ ही ईवीएम का गहनता से प्रशिक्षण लें, ताकि मतदान दिवस पर किसी प्रकार की परेशानी न आये। उन्होंने कहा निर्वाचन दिवस पर निर्धारित समय प्रातः सात बजे से मतदान प्रारंभ कराएंगे। इससे पूर्व मॉक पोल कराना अनिवार्य है। मतदान में लगे सभी कर्मचारी कर्तव्यनिष्ठा एवं शालीनता से निर्वाचन कार्यो को संपन्न कराये। उन्होंने कहा कि मतदान कर्मी टीम भावना से मिलजुल कर निर्वाचन कार्य करें। पार्टी प्रत्याशी एजेंण्डों के सामने 50 दिखावटी मतदान कराना अनिवार्य होगा।

यह भी पढ़ें 👉  नाराज पुत्र ने लगाई नहर में छलांग, बचाने के लिए पिता भी कूदा

पीठासीन अधिकारी हस्तपुस्तिका का भलीभांति अध्ययन कर लें। मतदान बूथ में पीठासीन अधिकारी अनुशासन बनाये रखे, शालीनता से व्यवहार करें, ताकि शांतिपूर्ण निर्वाध मतदान संपन्न हो सकें। उन्होंने कहा कि प्रातः सात बजे से मतदान कराना प्रारंभ करें तथा उससे 90 मिनट पूर्व मॉक पोल होगा। उन्होंने कहा कि मतदान पार्टियां अपने बूथ पर पहुंचने की सूचना अनिवार्य रूप से देना सुनिश्चित करें और अपने ही बूथ पर रात्रि प्रवास करेंगे। प्रातः सात बजे मतदान प्रारंभ होने की सूचना भी देना सुनिश्चित करेंगे। नोडल अधिकारी प्रशिक्षण जीएस सौन, मास्टर ट्रेनर दीप जोशी व डॉ. राजीव जोशी ने सैद्धान्तिक प्रशिक्षण में बारीकियों को समझाते हुए ईवीएम प्रशिक्षण के दौरान मतदान कार्मिक को विभिन्न प्रपत्र भरने, ईवीएम को ऑन व ऑफ करने व सील करने के साथ ही बीयू, सीयू तथा वीवीपैट को संयोजित करने, खोलने और सील करने की प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए हैंड्स ऑन प्रशिक्षण दिया गया।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेक फेल होने से क्रेन खाई में गिरी, पहाड़ी पर अटकी कार, इस तरह बची जिंदगियां

इसके साथ ही मास्टर ट्रेनरों ने मतदान हेतु सामग्री प्राप्त के तरीके, मतदान से पूर्व बूथ पर की जाने वाली कार्यवाही, मतदान शुरू करने, मतदान समाप्ति सहित सम्पूर्ण मतदान प्रक्रिया की विस्तार से जानकारी दी। मास्टर ट्रेनर ने प्रशिक्षण के दौरान कार्मिकों की शंका का निदान भी किया। मतदान कार्मिकों द्वारा डिग्री कॉलेज में बने पोस्टल बैलेट मतदान सुविधा केंद्र में पोस्टल बैलेट के माध्यम से अपने मताधिकार का भी प्रयोग किया गया। प्रशिक्षण में उप जिलाधिकारी राजकुमार पांडे, जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. हरीश पोखरिया, नोडल खानपान मनोज बर्मन, बैरिकेडिंग रमेश चन्द्रा सहित जोनल, सैक्टर मजिस्ट्रेट, पीठासीन अधिकारी व मतदान अधिकारी प्रथम उपिस्थत रहे।

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद