नाम बदलकर किशोरी से दुष्कर्म, वीडियो से दोस्तों के साथ यह गंदा काम करने को किया ब्लैकमेल

खबर शेयर करें

देहरादून। यहां किशोरी से दुष्कर्म और ब्लैकमेलिंग करने का मामला प्रकाश में आया है। आरोप है कि युवक ने नाम बदलकर पहले किशोरी के साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद उसकी वीडियो बना ली और इसके माध्यम से दोस्तों के साथ संबंध बनाने का दबाव बनाया। पुलिस ने तहरीर पर तीनों आरोपियों के खिलाफ पटेलनगर थाना पुलिस ने केस कर जांच शुरू कर दी है।

इंस्पेक्टर पटेलनगर केके लुंठी ने बताया कि 18 वर्षीय युवती ने तहरीर दी। कहा कि डेढ़ साल पहले वह नाबालिग थी। इस दौरान आईएसबीटी स्थित मॉल में एक युवक मिला। उसने अपना नाम राहुल निवासी निरंजनपुर बताते हुए पीड़िता से दोस्ती की। कुछ समय बाद उसे शिमला बाईपास रोड स्थित गेस्ट हाउस में ले जाकर शारीरिक संबंध बनाए। दोस्ती के चार-पांच महीने बाद पीड़िता को पता लगा कि आरोपी का असली नाम सोफी मलिक है। उसने धोखे से पीड़िता से दोस्ती की।

यह भी पढ़ें 👉  नौकर ने इस वजह से रच डाली लूट की साजिश, मास्टर माइंड समेत चार गिरफ्तार

पीड़िता ने उसका विरोध किया और कार्रवाई को कहा। आरोप है कि इसके बाद वह ब्लैकमेल करने लगा। डराया कि उसके पास पीड़िता की आपत्तिजनक फोटो और वीडियो हैं। जिन्हें वह वायरल कर देगा। आरोपी ने इस दौरान पीड़िता पर दबाव बनाया कि वह उसके दोस्त शादाब कुरैसी और आहिल खान निवासी ब्राह्मणवाला से भी शारीरिक संबंध बनाए।

यह भी पढ़ें 👉  लोकसभा चुनाव- मतगणना के लिए तैयारी में जुटी पुलिस, कड़ी रहेगी सुरक्षा

आरोप है कि इन दोनों ने भी नशे में पीड़िता से बीते अगस्त में आईएसबीटी के पास स्थित मॉल में छेड़छाड़ की कोशिश की। आरोप है कि बीते 25 मार्च को सोफी मलिक ने पीड़िता से निरंजनपुर सब्जी मंडी के पास मारपीट की और फरार हो गया।

यह भी पढ़ें 👉  अल्मोड़ा.........खाई में समाई कार, पति-पत्नी और बेटी की मौत

आरोप है कि इसके बाद डराकर 27 मार्च को आईएसबीटी के पास मिलने बुलाया। वहां पीड़िता का मोबाइल छीनते हुए मारपीट की कोशिश की। पुलिस ने आरोपी सोफी मलिक और उसके दोनों साथियों के खिलाफ विभिन्न धाराओं में केस किया है।  

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद