Subscribe our YouTube Channel

अल्मोड़ा….धामी जी महिलाओं की भी सुन लो पुकार, कर रही हैं ये मांग, करवाचौथ को लेकर कही ये बात

खबर शेयर करें

अल्मोड़ा। करवाचौथ पर्व पर अवकाश नहीं होंने से महिला शिक्षिकाओं और कर्मचारियों में नाराजगी है। पति की लंम्बी उम्र और सुहाग की दीर्घ आयु की कामना के लिए रखे जाने वाले करवाचौथ का उपवास पर उत्तराखंड सरकार ने इस बार अवकाश घोषित न किये जाने से रोष है। शिक्षिकाओं का कहना है कि कई शिक्षिकाएं अपने कार्यस्थल और घर के मध्य अधिक दूरी होने से इस त्यौहार का हिस्सा नहीं बन पा रहे हैं। सरकार ने बीते वर्ष करवाचौथ का अवकाश किया था लेकिन अब सरकार बन जाने के बाद महिला शिक्षिकाओं के साथ इस बार सरकार अन्याय कर रही है

इस अवसर पर राजकीय शिक्षक संघ की जिला उपाध्यक्षा मीनाक्षी जोशी ने कहा कि “करवाचौथ व्रत की छुट्टी अवश्य होनी चाहिए इतने कठिन व्रत के दिन दूरस्थ क्षेत्रों मे कार्यरत महिलाओं के लिए सफर करना व कार्य करना कठिन है. घर परिवार से दूर इस व्रत का पालन अत्यंत मुश्किल है। इसलिए महिलाओं की भावनाओं के सम्मान में इस दिन अवकाश होना ही चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  कुमाऊं कमीश्नर के भाई की कार समेत कई गाड़ियों से चोरी
राजकीय शिक्षक संघ की जिला उपाध्यक्षा मीनाक्षी जोशी

राजकीय शिक्षक संघ ब्लॉक सल्ट की अध्यक्ष प्रियंका शर्मा ने कहा कि “अन्य व्रतों की अपेक्षा यह व्रत लोकप्रिय होने के साथ साथ अत्यंत कठिन भी है, अतः इस दिन अवकाश न होना निराशाजनक है।

प्रियंका शर्मा

राजकीय शिक्षक संघ ब्लॉक अध्यक्ष चौखुटिया शिवानी बौठियाल ने कहा कि ” एक तरफ सरकार महिला सशक्तिकरण और कई विशेष सुविधा मुहैया करवाने की बात करती रही है और दूसरी तरफ महिलाओ के इस पवित्र त्यौहार के दिन उन्हें इसे मनाने से वंचित किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें 👉  प्रधानाचार्य की पुलिस से शिकायत, मचा हड़कंप
शिवानी बौठियाल

राजकीय शिक्षक संघ की पूर्व जिला सँयुक्त मंत्री गंगा अधिकारी ने कहा कि करवाचौथ का अवकाश देश के सभी अन्य प्रांतों में है लेकिन हमारे राज्य में  इस बार इस अवकाश को नही दिया है जो कि महिलाओं के साथ अन्याय है हम सरकार से अवकाश की मांग करते हैं।

गंगा अधिकारी

राजकीय शिक्षक संघ ब्लॉक ताड़ीखेत की सँयुक्त मंत्री तनुजा उप्रेती ने कहा कि “बीते वर्ष सरकार ने चुनाव से पूर्व इस अवकाश को घोषित किया था, लेकिन इस बार सरकार इसपर कोई बात नहीं कर रही है, सरकार का दोहरा चरित्र ठीक नही हैं अगर पिछले साल इसी सरकार ने अवकाश किया तो इस बार अवकाश न करना कहा तक उचित है”

तनुजा उप्रेती

ब्लॉक भैंसियाछाना के शिक्षिका शांति टम्टा ने कहा कि करवाचौथ पर शिक्षिकाएं निर्जल उपवास रखते हुए कार्यस्थल पर कार्य करना भी कठिन होता है इसलिए गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी सरकार को इस पर्व पर सार्वजनिक अवकाश करना चाहिए।

यह भी पढ़ें 👉  प्रधानाचार्य की पुलिस से शिकायत, मचा हड़कंप
शांति टम्टा

राजकीय शिक्षक संघ के मण्डलीय सँयुक्त मंत्री रविशंकर गुसाईं ने कहा कि सरकार का इस वर्ष करवाचौथ पर सार्वजनिक अवकाश घोषित न करने का मैं पूर्ण विरोध करता हूं, कई पुरुष कार्मिक भी करवाचौथ का अवकाश रखते है, उनका भी इस त्योहार पर अवकाश न किया जाने पर रोष है, सरकार प्रदेश में कई ऐसे अवकाश करती है जिनका हमारी स्थानीय रीति रिवाजों से कोई लेना देना नही होता लेकिन करवा चौथ का अवकाश जो कि एक महत्वपूर्ण त्योहार है उसका अवकाश नहीं कर रही है मैं पूरे शिक्षक समाज की ओर से इस फैसले का विरोध करता हूँ।

राजकीय शिक्षक संघ मण्डलीय सँयुक्त मंत्री रविशंकर गुसाईं

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट पाने के लिए -

👉 सजग पहाड़ के समाचार ग्रुप से जुड़ने के लिए यहाँ पर क्लिक करें, अन्य लोगों को भी इसको शेयर करें

👉 सजग पहाड़ से फेसबुक पर जुड़ें

👉 अपने क्षेत्र की ख़बरें पाने के लिए हमारे इस नंबर +91 87910 15577 को अपने व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ें! धन्यवाद

Subscribe
Notify of
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments